ये हैं असली खतरों के खिलाड़ी: हर बारिश के मौसम में पकड़ते हैं 2 हजार से ज्यादा जहरीले सांप


| July 4, 2016 | ,

उदयपुर | सांप का नाम सुनते ही लोगों के जहां भाग खड़े हो जाते हों लेकिन शहर में एक शख्स ऐसा है जिसका सांपों को पकड़ना पेशा ही नहीं बल्कि शौक भी है। ऐसे कई उदाहरण हमारे सामने आते हैं जिसमें सांप का नाम सुनते ही डर के कारण मौत हो गई। लेकिन शहर के चमन सिंह(Snake Catcher in Udaipur) एक ऐसे शख्सियत हैं जो बारिश के इन तीन महीनों में दाे हजार से ज्यादा सांप पकड़ते हैं। शहर में चमन सिंह पहले ऐसे आदमी हैं जो करीब 17 सालों से सांप पकड़ रहे हैं। उन्होंने बकायदा सांप पकड़ने की ट्रेनिंग वडोदरा से ली है।

चमन सिंह(Snake Rescuer in Udaipur) बताते हैं कि उदयपुर जिले में यों तो 300 से ज्यादा प्रजाति के सांप पाए जाते हैं लेकिन इनमें से केवल चार प्रकार की प्रजातियां ही जहरीली होती हैं। जिसमें कोबरा, रसेल वाइपर, सौस्केल वाइपर और कॉमन करेत शामिल हैं। इन दिनों सबसे ज्यादा कोबरा अपने बिलों से बाहर निकल रहे हैं। सौस्केल वाइपर के अलावा शेष तीनों प्रजातियाें के सांप घरों में निकल रहे हैं। विभिन्न इलाकों से कॉल आने पर चमनसिहं एक ही दिन औसत 12 सांप पकड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे सांपों को रेस्क्यू करते हुए जिले के आसपास के वन क्षेत्र में छोड़ देते हैं।

अगर आपको कभी आपके पास सांप दिखे तो इस नंबर पर चमन सिंह से सम्पर्क करे : +91 98280 58158

Share Button

Participate in exclusive #UI wizard