नुक्कड़ नाटक “धावड़ी” की प्रस्तुति से नाट्यांश ने मनाया अपना तीसरा स्थापना दिवस


| March 1, 2016 |

नाट्यांश सोसाइटी ऑफ़ ड्रामेटिक एंड परफोर्मिंग आर्ट्स द्वारा नुक्कड़ नाटक “धावड़ी” का फतेहसागर पर मंचन कर अपना तीसरा वर्षगांठ मनाया गया।संयोजक श्री अमित श्रीमाली ने बताया की नुक्कड़ नाटक “धावडी” में विभिन्न मुद्दों जैसे ट्रैफिक व्यवस्था, शराब-धूम्रपान, सफाई और नारी उत्पीड़न के बारे में बताया गया है। नाटक की कहानी उन आम जन के इर्द-गिर्द घूमती जो अपना जीवन में छोटी-छोटी पर जरूरी बातों का ध्यान नहीं रखते जैसे साफ सफाई,ट्रेफिक नियमों का पालन करना, धूम्रपन व मदीरापन। साथ ही इस नाटक में मुख्यत महिलाओं पर होने वाले अत्याचार और समाज का उनके प्रति घृणात्मक रवैये को भी दर्शाया गया। नाटक का लेखन और निर्देशन अशफाक नूर खान पठान ने किया। इस नाटक में मोहम्मद रिजवान, महेंद्र डांगी, परख जैन, विवेक सिंघल, शिवांश गौतम, पलक कायथ और स्वयं अशफाक नूर खान ने कलाकारों की भूमिका बखूबी निभाई। साथ ही रेखा सीसोदिया, आयुष माहेश्वरी, अब्दुल मुबिन खान, श्लोक पिंपलकर और श्याम बिहारी यादव ने सहयोग दिया।

natyansh-udaipur-2-anniversary-2

Share Button
[fbcomments]

Participate in exclusive #UI wizard