अन्तर्राष्ट्रीय धावक पेट फार्मर की रेस उदयपुर से राजसमन्द के लिए रवाना: स्पिरिट आॅफ इण्डिया रन


| February 29, 2016 |

बाइकर्स ने किया एस्कोर्ट, खिलाड़ी और शहरवासी भी साथ दौड़े
जयपुर, 29 फरवरी। भारत को जानने, समझने और मानवता की सेवा का संदेश फैलाने कन्याकुमारी से श्रीनगर तक की दौड़ का अनूठा मिशन लेकर चल रहे आस्ट्रेलिया के सांसद एवं पूर्व मंत्राी तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के अपनी तरह के अद्वितीय धावक पेट फार्मर और उनकी टीम ने सोमवार को उदयपुर से राजसमन्द के लिए प्रस्थान किया।

सोमवार प्रभात में पांच बजे उदयपुर शहर में पारस चैराहे पर पेट फार्मर एवं उनकी टीम का ट्रावेलर्स एसोसिएशन आॅफ राजस्थान, एयर इण्डिया के अधिकारियों व कार्मिकों, खिलाडि़यों एवं शहरवासियों ने जोश-खरोश से स्वागत किया।
उनकी रन को एस्कोर्ट करने आयी एल.आर. बाइकर्स एसोसिएशन की ओर से श्री दिग्विजय सिंह राणावत व तमाम बाइकर्स ने स्वागत करते हुए संस्था का टी शर्ट भेंट किया जिसे प्रसन्नता से स्वीकार कर फार्मर ने पहना और आभार जताया। पेट फार्मर ने बाइक सवारी कर हौसला बढ़ाया तथा फोटो सेशन करवाया।

पर्यटन विभाग की उप निदेशक सुमिता सरोच तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उप निदेशक डाॅ. दीपक आचार्य ने झण्डी दिखाकर स्पिरिट आॅफ इण्डिया रन का राजसमन्द के लिए शुभारंभ किया।
बाइकर्स ने शहर में एस्कोर्ट किया वहीं शुभारंभ कार्यक्रम में मौजूद अधिकारियों, कार्मिकों, खिलाडि़यों, एयर इण्डिया के समूह और गणमान्य नागरिकों ने दौड़ में भागीदारी निभायी।
पेट फार्मर के साथ उनकी ट्रेनर एवं सहयोगी केटी वाल्स, उदयपुर के धावक दिलीपकुमार वाकलकर आदि ने भी लम्बी दूरी तक दौड़ में सहभागिता अदा की।

spirit-of-india-run

शुभारंभ के दौरान अपने स्वागत से अभिभूत पेट फार्मर ने चर्चा करते हुए भारतवर्ष की महानता का जिक्र किया और कहा – भारत अतुलनीय, अवर्णनीय सौन्दर्यशाली और बहुत-बहुत प्यारा है, मुझे भारत से खूब लगाव है। यह देश बहुत महान है।

उन्होंने कहा कि भारत हर मामले में विविधताओं का खजाना है जहां अनन्त सांस्कृतिक, सामाजिक और धार्मिक परंपराएं हैं, मानवीय मूल्य हैं और बहुत कुछ है जो दुनिया में और कहीं नहीं।

उन्होंने युवाओं से चर्चा करते हुए कहा कि हरेक इंसान में महान से महान सामथ्र्य भरा पड़ा है, गुणों की खान है, इसे जानें और उसका पूरा उपयोग करते हुए दुनिया के लिए कुछ संदेश देने का माद्दा अपने भीतर पैदा करें, तभी हमारा जीवन सफल है। इस मामले में भारत में बहुत कुछ कर दिखाने की पूरी क्षमता है। इन अपार संभावनाओं को देखें और दुनिया में कुछ कर दिखाएं।

शहरवासी भी साथ हो लिए
पेट फार्मर की रेस जहां-जहां से होकर गुजरी वहां उनका लोगों ने स्वागत भी किया और उनसे प्रेरित होकर कुछ दूरी तक साथ दौड़ भी लगाई।

Share Button
[fbcomments]

Participate in exclusive #UI wizard